पहुंचा मानसून, झमाझम बारिश शुरू।।। छिंदवाड़ा. तय समय से करीब 10 दिन लेट हो चुका…

पहुंचा मानसून, झमाझम बारिश शुरू।।।

छिंदवाड़ा. तय समय से करीब 10 दिन लेट हो चुका मानसून ने शनिवार दोपहर शहर में दस्तक दे दी। दोपहर 12 बजे से शहर व आसपास इलाकों में झमाझम बारिश हो रही है। जिससे मौसम खुशगवार हो गया है। मौसम विभाग से मिली जानकारी के अनुसार 24 से 28 जून के बीच जिले के कुछ क्षेत्रों में हल्की मध्यम और कुछ इलाकों में घने बादलों के साथ मूसलाधार बारिश होने की सम्भावना है। बढ़ रही आर्द्रता भी मौसमी बादलों के बरसने की स्थिति को अनुकूल बना रही है।
इस दौरान डेढ़ इंच से ज्यादा यानि 38 मिमी तक बारिश होने की बात कही जा रही है। ध्यान रहे छिंदवाड़ा से लगे दूसरे जिलों में पिछले दो दिनों से अच्छी बारिश के समाचार मिले हैं, लेकिन यहां मानसून के बादल बरस नहीं रहे। गुरुवार-शुक्रवार को महाराष्ट्र से लगे इलाकों और मोहखेड़ में मूसलाधार बारिश हुई। छत्तीसगढ़ से लगे मंडला, बालाघाट में भी बारिश हुई है।
दो दिन से बन रहा था मौसम
दो-तीन दिन से कभी सुबह तो कभी दोपहर को घने बादल आसमान में छा रहे हैं, लेकिन बारिश गायब थी। शुक्रवार को सुबह 10.30 बजे बूंदाबांदी शुरू हुई तो लगा कि कुछ देर तक मूसलाधार पानी बरसेगा, लेकिन चंद मिनटों के बाद बादल जो गए तो फिर लौटे नहीं। जबकि उमस बढ़ा गए। दोपहर बाद तो लोग उमस से छटपटा उठे। शुक्रवार को भी तापमान 37 डिग्री के आसपास ही रहा। शनिवार सुबह भी तेज धूप निकली। हालांकि कुछ ही घंटों में मौसम में बदलाव हुआ। और दोपहर में तेज बारिश शुरू हो गई। चंदनगांव स्थित कृषि आधारित मौसम सूचना केंद्र के नोडल अधिकारी डॉ. विजय पराडकर ने बताया कि जिले में कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है।

जहां बेहद कम बारिश वहां बोवनी न करने की सलाह
जून के पहले सप्ताह में हल्की बारिश के बाद ही किसानों ने मक्का की बोवनी कर दी थी। इस बार समय से पहले मानसून के आने की जानकारी के कारण किसान इसी आस में बोवनी कर बैठे। अब वे परेशान हो रहे हैं, क्योंकि पखवाड़ेभर बाद जमीन से अंकुरित होकर पौधे की शक्ल ले रहे बीज और उसकी पत्तियां पानी के बिना सूख रहीं है। एेसे पौधों को किसी तरह सिंचाई की व्यवस्था कर बचाने की सलाह विभाग दे रहा है। कृषि जानकारों ने कहा है कि जब तक तीन से चार इंच पानी न बरस जाए तब तक किसान बोवनी न करें। जिले के मोहखेड़, चौरई, पांढुर्ना, तामिया, हरई, बिछुआ में बारिश दो इंच से ज्यादा हो चुकी है। मोहखेड़ और पांढुर्ना में तो 100 मिमी से ज्यादा बारिश हुई है। इन क्षेत्र के किसानों को बोवनी करने की सलाह दी जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *